अदरक और सौंठ के फायदे….

0
109

अदरक खाने से हमारे शरीर को क्या क्या फायदे होते है..?

 

पेट कि सूजन, कफ, वायू, कंठरोग, खासी, दमा, मलबद्धता, वाती इनका अदरक नाश करता है. तो अदरक हमारे शरीर के लिये बहुत उपयोगी है. इसी लिये, अदरक का सेवन रोज करे.
1) अदरक का रस निकालकर एक चमच शहद यानी हनी में मिलाकर पिनेसे सांस लेने में तकलीफ नही होगी.
 
2) अगर किसी को बार बार शौच आती है तो अदरक का रस एक चमच निकलकर अपने नाभी पर मसाज करने से बार-बार शौच आना बंद होगी.
 
3) खाना खानेसे पहले अदरक का एक चमच रस, निंबूका रस और शहद (हनी) मिलाकर पिनेसे पेट में गैस नही बनेगा, पेट में जलन, पित्त से मुक्ती मिलेगी और जबान, कंठ, हृद्य शुद्ध रहेगा.
 
4) अगर कोई व्यक्ती आधे सिरदर्द से परेशान है तो अदरक के रस में गुड मिलाकर घोले और कपडे में रस छानकर ले, और उसकि एक बुंद नाक में डाले, आधा सरदर्द में राहत मिलेगी.
 
5) अगर आप कमर दर्द से परेशान है तो एक चमच अदरक के रस में घी मिलाकर पिये, कमरदर्द में राहत मिलेगी.
 
6) कई लोगोंको सफर करते वक्त उल्टी की समस्या होती है ऐसे में अदरक का एक चमच रस और प्याज का एक चमच रस मिलाकर पिये उल्टी आनी बंद हो जायेगी.
 
तो दोस्तो ये थे अदरक के फायदे!
 

अब हम सौंठ के फायदो के बारे में जानेंगे…

 
अदरकका सौंठ में रुपांतर करने का तरीका भारत के बंगाल और तमिळनाडू के चेन्नई में होता है. सौंठ का तेल भी निकाला जाता है और उसका चूर्ण भी बनाया जाता है. आयुर्वेद में सौंठ को बहुत बडा प्रध्यान दिया गया है और सौंठ के तेल का दावा में इस्तेमाल किया जाता है.
 
1) कमर, पिट या घुटने के दर्द में या सूजन आने पर सौंठ का चूर्ण और एरंडी का तेल मिलाकर इसका लेप देने से दर्द या सूजन में राहत मिलती है.
 
2) बारीश के मौसम में छोटे बच्चे, जवान, बुढे हमेशा सर्दी, खासी, जुकाम से बीमार पडते है, तो अगर सौंठ और शहद मिलाकर खाये तो तुरंत सर्दी, खासी, जुकाम में कम हो जाता है.
 
3) अगर आप आधे सिरदर्द से परेशान है तो पानी में या दुध में सौंठ का एक चमच चूर्ण उबालकर पीने से या उसका लेप माथेपर लगाने आधा सिरदर्द बंद हो जायेगा.
 
4) किसी बच्चे या बुढे व्यक्ती को कफ कि समस्या हो तो सौंठ और खडीशक्कर का काढा बनाकर पीने से कफ कि समस्या से छुटकारा मिलेगा.
 
5) अगर किसी व्यक्ती को गला बैठ्ने कि समस्या है तो सौंठ के काढे में हलदी और गुड मिलाकर पीने से गला साफ रहता है और गला बैठ्ने कि समस्या से मुक्ति मिलती है.
 
6) अगर किसी को पाईल्स कि समस्या है तो सौंठ का चूर्ण गाय के छाज में मिलाकर पीने से पाईल्स कि समस्या मिलेगा.
 
तो दोस्तो सौंठ का भी इस्तेमाल हमेशा हमे करना चाहिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here