डाइबिटीज में कद्दू खाने के फायदे

0
35

डायबटीज एक कॉम्‍प्‍लीकेटेड बीमारी है जिसमें हर बार एतहियात बरतनी पड़ती है। यह बीमारी साइलेंट किलर होती है, इसमें शरीर में ब्‍लड़ सुगर की मात्रा,‍ नियंत्रण में नहीं रहती है। डायबटीज से ग्रसित व्‍यक्तियों को खाने-पीने के मामले में बेहद सावधानी बरतनी पड़ती है। इस बीमारी से ग्रसित होने पर प्रीर्जवेटिव फूड खाने से बचना चाहिए।

अगर आप डायबटीज से ग्रसित है तो मसूर की दाल, ब्रोकली, सॉल्‍मन, चिया सीड और सारडीनाइस आ‍दि का सेवन करें, जो आपके लिए फायदेमंद होता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताना चाहते है कि कद्दू का सेवन, डायबटीज के रोग में फायदेमंद होता है। आप इसे कई तरीके से सेवन कर सकते हैं, इसको भाप में पकाकर खाने से अधिक लाभ मिलता है, आप चाहें तो इसे लोहे की कढ़ाई में पकाकर खाएं, इससे आपको आयरन भी मिलेगा और आपको सब्‍जी में स्‍वाद भी आएगा।

कद्दू का सूप, पाइस और पूरी भी बनती है। कद्दू का सेवन करने से विटामिन ए और सी भरपूर मात्रा में है। इससे शरीर को पौटेशियम भी अच्‍छी मात्रा में मिलता है। इसके सेवन से शरीर में वसा की मात्रा नहीं बढ़ती है। डायबटीज मरीजों को कद्दू के सेवन के निम्‍नलिखित लाभ हैं:

1) भरपूर मात्रा में विटामिन सी

कद्दू में विटामिन सी पर्याप्‍त मात्रा में होता है। इससे शरीर में इंसुलिन की मात्रा अच्‍छी हो जाती है और बढ़ी हुई डायबटीज नियंत्रण में आ जाती है।

2) आयरन और असंतृप्‍त वसा

कद्दू के बीजों में आयरन की पर्याप्‍त मात्रा होती है और इसमें वसा भी नहीं होता है जो दिल के लिए भी अच्‍छा होता है। अगर आप इसके क्रंची स्‍नैक भी बनाकर खाएं, तब भी आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होगा।

3) एंटीऑक्‍सीडेंट

शरीर में इंसुलिन की मात्रा कम होने पर डायबटीज की शिकायत हो जाती है, ऐसे में एंटीऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में मिलने पर इस कमी की भरपाई की जा सकती है। कई शोध अध्‍ययनों से ये बात सामने आई है कि कदृदू खाने से उपापचय दुरूस्‍त रहता है और कुछ हद तक बीमारी सही भी हो जाती है।

4) फॉलिक एसिड

कद्दू में फॉलिक एसिड भरपूर मात्रा में होता है, जो शरीर में नाईट्रिक एसिड की मात्रा को घटाता है। यह आपके शरीर की प्रक्रिया को सुचारू बनाता है। यह कद्दू का विशेष लाभ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here